[FREE PDF] रिच डैड पुअर डैड | Rich Dad Poor Dad In Hindi PDF Download

यहाँ से आप Rich Dad Poor Dad In Hindi PDF फाइल को बिलकुल Free Download कर सकते है। यह एक ऐसी बुक है जो दुनिया के 100 देशो में 40 मिलियन से ज्यादा बार बिक चुकी है।

[FREE PDF] रिच डैड पुअर डैड | Rich Dad Poor Dad In Hindi PDF Download

रिच डैड पुअर डैड बुक के मुख्य लेखक रॉबर्ट टी कियोसाकी है। जो हमें 2 व्यक्ति (डैड) की सोच द्वारा मुख्य 8 बातें सिखाते है।

  • अमीर वर्ग ज्यादा पैसे कैसे कमा पाता है।
  • लोग बिना पैसे गरीब कैसे रह जाते है।
  • पैसे कमाने के लिए कैसी सोच होनी चाहिए।
  • दिमाग को सही काम में कैसे लगाया जाये।
  • कॅल्क्युलेटेड रिस्क लेना किस तरह सही है।
  • पैसे को काम पर लगा के बढ़ाने का तरीका।
  • पैसे कमाने से ज्यादा पैसा बचाना जरुरी है।
  • कमाई के स्त्रोत बढ़ाना क्यों महत्वपूर्ण है।

ध्यान दीजिये : यदि आप इन 8 पॉइंट द्वारा Financial Education प्राप्त करना चाहते है, तो इस बुक को जरूर पढ़नी चाहिए।

Rich Dad Poor Dad In Hindi PDF Download

आपकी सही सहायता के लिए यहाँ 2 प्रकार की बुक बताई है।

₹49 में सस्ती शॉपिंग करे 🔥 Go Now
  • Free PDF File
  • Original Book

अगर आप बिना पैसे खर्च किये मुफ्त में रिच डैड पुअर डैड बुक पढ़ना चाहते है। तो निचे दी गयी PDF File Download कर सकते है।

Rich Dad Poor Dad Book PDF in hindi

Author Robert T. Kiyosaki
Pages 225
Size 5.07 MB
Publisher Manjul Publishing
Location Google Drive
Provider Sabsastaa

Download PDF

थोड़े पैसे खर्च कर के ओरिजिनल बुक पढ़नी है, तो हमारी ऑफर लिंक द्वारा अमेज़न से बुक आर्डर कर सकते है। जहा आपको Rich Dad Poor Dad Book Price ₹335 में मिल जाएगी।

Rs. 322
Rs. 499
in stock
10 new from Rs. 322
as of 20/02/2024 2:12 am
Amazon.in

इस ओरिजिनल किताब को अब तक अमेज़न इंडिया में 2 लाख से ज्यादा बार ख़रीदा जा चूका है। पॉजिटिव रिव्यु की बात करे तो वह 90 प्रतिशत से भी ज्यादा है। साथ ही 23,700 ग्राहकों ने मिल कर इस किताब को 5 में से 4.6 का स्टार रेटिंग दिया है।

रिच डैड पुअर डैड बुक में क्या बताया है

इस बुक में ऑथर 2 डैड द्वारा अपने विचार शेयर करते है। जिसमे एक पिता गरीब होते है, जो की लेखक के असली पिता है। दूसरी तरफ ऑथर का एक दोस्त है और उसके पिता काफी अमीर है।

यदि दोनों पिता के बिच का अंतर देखे तो आप जान कर शायद हैरान रह जाओगे।

  • लेखक के पिता ज्यादा पढ़े-लिखे है, लेकिन फिर भी वह गरीब है।
  • उनके दोस्त के पिता मात्र 8 वी पास है, फिर भी वह अमीर है।

ऑथर जब दोनों को सवाल करते है तो उनकी सोच पता चलती है, जो कुछ इस प्रकार है।

  • गरीब पिता कभी ज्यादा पैसे कमाने के बारे में नहीं सोचते।
  • अमीर पिता खुद के दिमाग से पूछते है कैसे पैसा कमाया जाये।
  • गरीब डैड के कमाई स्त्रोत कम और खर्चे ज्यादा है।
  • अमीर डैड के कमाई स्त्रोत ज्यादा है और खर्च कम रखने की कोशिश करते है।
  • गरीब हमेशा कर्जा और उधारी के चक्कर में ज्यादा फसता रहता है।
  • अमीर पैसो को बचा के रखता है और उन्हें सही उपयोग में डालता है।
  • गरीब कुछ ऐसा करता रहता है जिससे उसके पैसे लगातार जाते रहते है।
  • अमीर ऐसा करते है जिससे पैसे और कमाई के स्त्रोत बढ़ते रहते है।

जब हम किताब में इन दोनों व्यक्ति की कहानी पढ़ते है। लेखक ने बताई बातों को गहराई से समझते है। तब हमें पता चलता है की अपने जीवन में कितनी गलतियां कर रहे है।

फिर इन्ही गलतियों को हम सुधारते हुए अपने पैसो को सही काम पर लगा सकते है। साथ ही बिनजरूरी खर्चो से दूर रह कर पैसो को भी बचा सकते है।

Rich Dad Poor Dad All Chapter in Hindi

मोटिवेशनल स्पीकर और ऑथर रोबर्ट टी कियोसाकि की इस बुक में कुल 10 चैप्टर देखने मिलते है।

(1) पहला चैप्टर

इसमें लेखक ने एक कहानी रूप द्वारा रिच डैड पुअर डैड किताब के बारे में बताना शुरू किया है। ताकि हम सच्ची कहानी द्वारा सरलता से अपनी स्थिति को समझ पाए। बहुत से लोग इस प्रकार की स्टोरी द्वारा तुरंत जुड़ जाते है।

(2) दूसरा चैप्टर

ज्यादातर अमीर लोग पैसो के लिए काम नहीं करते, बल्कि वह अपने पैसो को काम पर लगाते है। आगे चल कर वही पैसा ऑटोमेटिकली दूसरे पैसो को लाता है। इसी प्रक्रिया को आगे बढ़ा कर अमीर पैसे कमाते रहते है।

(3) तीसरा चैप्टर

दुनिया के अधिकतर लोगो को पैसो की सही समझ नहीं होती। इसी कारण वह अपनी अच्छी Financial Condition को भी बिगाड़ देते है। लेखक यही बताने का प्रयास करते है की जीवन में पैसो की समझ होना कितना ज्यादा जरुरी है।

(4) चौथा चैप्टर

अधिकांश अमीर वर्ग के चतुर लोग अपने काम से काम रखते है। वो बिनजरूरी काम और झंझट से दूर रहते है। इसी कारण अपना सही समय सही काम पर दे पाते है। आपको भी अपने जीवन में ये कैसे करना है वो चैप्टर 4 में दर्शाया है।

(5) पांचवा चैप्टर

हर देश में टैक्स का एक इतिहास और इकनोमिक से जुडी कॉर्पोरेशन ताकत होती है। यदि इन 2 महत्वपूर्ण बातों को अच्छे से समझ लिया जाये। तो Money Management और सेविंग करने में काफी आसानी हो जाती है।

(6) छठा चैप्टर

बहुत से लोग सोचते है अमीर व्यक्ति के पास पहले से बाप-दादा के पैसे होते है। जबकि अधिकांश अमीर लोग गरीबी में से उभर कर आये होते है। इसीलिए ऑथर बताते है की अमीर लोग कैसे पैसो का आविष्कार करते है।

(7) सातवा चैप्टर

अधिकांश सामान्य जनता का ध्यान सिर्फ ज्यादा पैसे कमाने की तरफ होता है। जबकि लेखक कहते है पैसे कमाने के लिए काम नहीं करना चाहिए। काम अपनी रूचि के हिसाब से ज्यादा सिखने के लिए करना चाहिए।

(8) आठवा चैप्टर

हर व्यक्ति के जीवन में कही प्रकार की समस्याए आती है। वैसे ही अपने लक्ष्य के बिच में भी कही बाधाए आती रहती है। ऐसी कठिन परिस्थिति में खुद को मजबूत रखते हुए सभी समस्याओ को पार करना जरुरी है।

(9) नौवा चैप्टर

आप चाहे कितना भी सिख लो, जान लो या समझ लो। लेकिन जब तक शुरुआत नहीं करोगे तब तक कोई परिणाम देखने नहीं मिलेंगे। इसलिए सही कार्य के साथ अमीर बनने की शुरुआत कर देनी चाहिए।

(10) दसवा चैप्टर

इंसान की जरूरते पूरी हो सकती है, लेकिन लालच कभी नहीं। हमेशा हम चाहते है की और ज्यादा मिल जाये। लेखक इसी विषय पर अंतिम चैप्टर में कुछ महत्वपूर्ण बातों को हमारे साथ साझा करते है।

बुक कैसे बताती है अमीर बनने का तरीका

Rich Dad Poor Dad बुक पढ़ने की चाह रखने वाले अधिकतर लोग पैसे कमाना और लाइफ में ग्रोथ करना ही चाहते है। तो ऐसे में ये समझ लीजिये की पूरी किताब कुल मिला कर Asset And Liability को समझाती है।

जिसमे Asset यानी की आप कितने तरीके या रास्तो से पैसे कमाते है। जैसे में एक ब्लॉगर हु तो विज्ञापन, एफिलिएट नेटवर्किंग, सर्विस और शेयर मार्किट से पैसे कमाता हु।

दूसरा Liability है, जिसका मतलब होता है आपके पैसे कहा खर्च हो रहे है। जैसे मेरे पैसे वेबसाइट से जुड़े कामो में, ऑनलाइन बिज़नेस में और घर चलाने में खर्च हो रहे है।

अब लेखक समझाते है की अमीर बनाना है तो अपनी कमाई के स्त्रोत यानी Asset को ज्यादा रखना होगा। वो भी जितना हो सके उतना Passive Income वाला हो तो अच्छा है। इसी के साथ बिनजरूरी खर्चो का प्रमाण कम होना चाहिए। जैसे महँगी चीज़े खरीदना, लोन्स लेना या सिर्फ दिखावे की चीज़ खरीदना।

यदि ऑथर द्वारा बताई इन बातों को पूरी तरह से समझ जाते है और अपने जीवन में पालन करना शुरू कर देते है। तो आप देखेंगे की पैसे बच रहे है। साथ ही हर महीने और हर साल कमाई में अच्छा ग्रोथ देखने मिल रहा है।

Rich Dad Poor Dad कितनी भाषाओ में उपलब्ध है

इस खास किताब को पूरी दुनिया की 50 से भी ज्यादा भाषाओ में अनुवाद किया जा चूका है। यह बुक हमारे इंडिया की 7 भाषाओ में मिल जाती है, जिनमे निम्नलिखित भाषाएँ शामिल है।

  • इंग्लिश
  • हिंदी
  • गुजराती
  • मराठी
  • तमिल
  • तेलुगु
  • कन्नड़

हर लैंग्वेज में बुक को ग्राहकों की तरफ से बहुत अच्छा रिस्पांस मिला है। इसे सबसे अधिक बार इंग्लिश और हिंदी भाषा में ख़रीदा गया है।

सवाल जवाब (FAQ)

यहाँ निचे बुक से जुड़े जरुरी प्रश्नो के उत्तर दिए है।

(1) Rich Dad Poor Dad Book के लेखक कौन है?

जिंदगी बदल देने वाली इस बेहतरीन बुक के लेखक रोबर्ट टी कियोसाकि है।

(2) किताब Free PDF या ओरिजिनल में पढ़नी चाहिए?

में कहुगा आप ओरिजिनल बुक ऑनलाइन आर्डर कर के पढ़े। क्यों की असली किताब आपको बहुत कुछ सीखा पायेगी और इसे पढ़ना भी अच्छा लगता है।

(3) रिच डैड पुअर डैड बुक से क्या सिखने मिलता है?

किताब हमें जीवन में सफल होना और अमीर बनना सिखाती है। इसी महत्वपूर्णता के कारण लोग इसे पढ़ना पसंद करते है।

हमें आशा है की आपको Rich Dad Poor Dad किताब सम्बंधित पूरी जानकारी मिल गयी है। इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ शेयर कर के उनकी भी मदद करे।

Karanveer
Karanveer

में पिछले 6 साल से ब्लॉग्गिंग कार्य द्वारा जुड़ा हूँ। मुझे ऑनलाइन शॉपिंग और प्रोडक्ट रिव्यु की जानकारी लिखना अच्छा लगता है।

SabSastaa
Logo